ख्वाहिशों का भार ढोते बच्चे

ख्वाहिशों का भार ढोते बच्चे

ख्वाहिशों का भार ढोते बच्चे – सोमा ए चटर्जी8 जनवरी, 2007 को कोलकाता के उपनगर में 14 साल का विश्वदीप भट्टाचार्जी अपने पिता के साथ छत पर टेबल टेनिस खेलने के दौरान बेहोश होकर गिर पड़ा और बाद में उसकी मौत हो गई। एक सप्ताह बाद ही बेंगलुरू में 20 साल की सम्पाली मिद्या...
एक विधिविहीन सेक्टर

एक विधिविहीन सेक्टर

एक विधिविहीन सेक्टर – सुजैन अब्राहमबिना सुरक्षा के रोजगार देश के वर्किंग सेक्टर की एक अहम विशेषता बनती जा रही है। न केवल असंगठित क्षेत्र के कामगार बल्कि संगठित क्षेत्र के कर्मचारी भी श्रम कानूनों के प्रावधानों और सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के...